Pradhan Mantri Awas Yojana प्रधानमंत्री आवास योजना

Pradhan Mantri Awas Yojana को संक्षेप में PMAY भी कहा जाता हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) मिशन की शुरुआत 25 जून 2015 को किया गया था. इस योजना का उद्देश्य वर्ष 2022 तक शहरी क्षेत्रों में सभी के लिए आवास प्रदान है.

pradhan mantri awas yojana

Pradhan Mantri Awas Yojana (PMAY)

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) का उद्देश्य महंगे रियल स्टेट सेक्टर घरों की अपेक्षा गरीब और मध्यम वर्ग के लोगो को सस्ते घरों को उपलब्ध करना हैं.

PMAY योजना का लक्ष्य, महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के अवसर पर 31 मार्च 2022 तक देश भर के लोगो के लिए 20 मिलियन घरों का निर्माण करके “सब के लिए घर (हाउसिंग फॉर ऑल)” के अपने उद्देश्य को प्राप्त करना है.

इसे भी पढ़ें: शाओमी फोन से Ads को कैसे हटायें?

अगर आप भी मकान बनाने या खरीदने की योजना बना रहे हैं तो प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) आपका काम आसान कर सकती है. शुरुआत में PMAY का लाभ सिर्फ गरीबो के लिए था. लेकिन अब होम लोन की रकम बढ़ाकर शहरी इलाकों के गरीब और मध्यम वर्ग को भी PMAY के दायरे में लाया गया है.

प्रधान मंत्री आवास योजना को क्षेत्रों की आवश्यकताओं के आधार पर दो भागों में बांटा गया है-

  1. प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना
  2. प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना

प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) के लाभ

केंद्र सरकार (भारत सरकार) ने PMAY को 31 मार्च 2020 तक बढ़ा दिया है. पहले यह स्कीम दिसंबर 2017 में खत्म हो रही थी.

PMAY के तहत पहला घर बनाने या खरीदने के लिए होम लोन (Home Loan) पर ब्याज सब्सिडी का फायदा दिया जाता है. होम लोन (Home Loan) के ब्याज पर 2.60 लाख रुपये का फायदा कम आय वर्ग के लोग उठा सकते हैं.

शुरुआत में PMAY में होम लोन (Home Loan) के जरिये 3 से 6 लाख रुपये दी जाती थी, जिस पर PMAY स्कीम के तहत ब्याज पर सब्सिडी दी जाती थी. लेकिन अब इसे बढ़ाकर 18 लाख रुपये तक कर दिया गया है.

PMAY का लाभ कौन उठा सकता है?

Pradhan Mantri Awas Yojana का लाभ पाने के लिए आवेदक की आयु 21 से 55 वर्ष के बीच ही होनी चाहिए. यदि आवेदक या परिवार के मुखिया की उम्र 50 साल या उससे से अधिक है तो उसके वारिस को होम लोन में शामिल किया जाना आवश्यक हैं।

PMAY का लाभ लेने के लिए आवेदक की आमदनी कितनी होनी चाहिए?

जिस भी किसी व्यक्ति की सालाना आमदनी 18 लाख या 18 लाख से कम हैं तो वो प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) के लिए पात्र है और वो आवेदन कर सकता हैं।

आर्थिक स्थिति के आधार पर Pradhan Mantri Awas Yojana का लाभ लेने वाले को चार भागो में बाटा गया हैं।

  1. EWS (Economically Weaker Section)
  2. LIG (Low Income Group)
  3. MIG I (Middle Income Group I)
  4. MIG II (Middle Income Group II)

1 टिप्पणी

अपनी प्रतिक्रिया दें।

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें