बॉलीवुड के वो 5 एक्टर जिन्होंने फ़िल्मों में सफ़ल होने से पहले अपने प्यार से की थी शादी

बॉलीवुड की चकाचौंध भरी जिंदगी को देखकर आप सभी को लगता होगा की ये लोग कितने ख़ुशनसीब और बेसुमार पैसे वाले हैं। बॉलीवुड के लोगो की लाइफ़ दौलत-शौहरत से भरी है। ये लोग और इनका परिवार कितनी अच्छी और ऐसों आराम की ज़िंदगी जीते है। लेकिन एक बात हम आप सभी को बता दें की बॉलीवुड के जो बड़े-बड़े स्टार आज अपने परिवार के साथ महंगी-महंगी गाड़ियों और कपड़ों में दिखते हैं, एक समय ऐसा भी था जब इनके पास सिवाय एक-दूसरे के साथ के कुछ नहीं था। 

5-actors-who-got-married-before-becoming-superstars

आज हम आपको बॉलीवुड के कुछ ऐसे कपल के बारे में बात करेंगे, जिन्होंने उस समय शादी की जब वे एक आम आदमी की तरह जीवन जीते थे, हमारे और आप की तरह। तब ये लोग अपने करियर को आज़मा रहे थे. मगर उनके जीवन साथी ने कभी उनका साथ नहीं छोड़ा शायद इसीलिए आज ये स्टार आम आदमी से खास आदमी बन गए हैं। इसके लिए उन्होने अपने जीवन में बहुत संघर्स किए।

ये रहीं कुछ स्टार की वो जोड़ियां:

1. अनिल कपूर

anil kapoor marriage

अनिल कपूर और सुनीता कपूर बॉलीवुड के एवरग्रीन जोड़ो में से एक हैं। अभी भी समय समय पर अनिल कपूर अपनी पत्नी सुनीता कपूर को प्यार का इजहार करते रहते हैं। शादी से पहले 10 साल तक अनिल कपूर, सुनीता के साथ रिलेशनशिप में थे और इनकी शादी आगे टलती जा रही थी।

दरअसल हुआ यूं की 17 मई को अनिल कापूर एक फिल्म साइन करने के बाद, 18 मई को अनिल कपूर ने सुनीता को प्रपोस कर दिया था। इसी के एक दिन बाद यानि 19 मई 1984 को अनिल कपूर ने सुनीता कपूर से शादी कर ली।

जिस वर्ष इन दोनों की शादी हुयी उसी साल अनिल कपूर को फ़िल्म तेज़ाब के लिए फ़िल्मफ़ेयर का बेस्ट एक्टर अवॉर्ड भी मिला था। अनिल कपूर और इनकी पत्नी सुनीता कपूर के तीन बच्चे हैं। इसने दो बेटियाँ जिनका नाम सोनम कपूर और रिया कपूर हैं और एक बेटा हैं जिसका नाम हर्षवर्धन कपूर हैं।

2. शाहरुख़ ख़ान

shahrukh khan and gauri khan marriage

बॉलीवुड के किंग ख़ान कहे जाने वाले शाहरुख़ ख़ान की रियल लाइफ़ भी कुछ रील लाइफ़ जैसी ही है. शाहरुख़ ख़ान कई सपने लेकर मुंबई आए थे। इनकी लव स्टोरी किसी फिल्मी कहानी जैसी ही थी। दोनों ने एक-दूसरे को पाने के लिए खूब पापड़ बेले और आखिरकार प्यार की जीत हुई।

दोनों की पहली मुलाकात 1984 में एक कॉमन फ्रेंड की पार्टी के दौरान हुई थी। तब शाहरुख सिर्फ 18 साल के थे। एक तरफ़ उनके दिल में सिनेमा के लिए प्यार था तो दूसरी तरफ़ गौरी के लिए एहसास।

दोनों की शादी के बीच सबसे बड़ा विलेन बना उनका रिलीजन। शाहरुख खान मुस्लिम परिवार और गौरी हिंदू ब्राह्मण परिवार से थीं। गौरी के पिता प्योर वेजिटेरियन थे। गौरी के पैरेंट्स इस शादी के लिए कभी तैयार नहीं होते। इसके अलावा शाहरुख उस वक्त फिल्मों के लिए स्ट्रगल कर रहे थे।

शाहरुख़ ने 1980 में फ़ौजी और सर्कस जैसे सीरियल में काम किया. इसके बाद 1991 में संघर्ष के दिनों के दौरान इन्होंने गौरी से शादी की और 1992 में फ़िल्मों में एंट्री मारते हुए दीवाना फ़िल्म से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत की।

शाहरुख ने गौरी के पैरेंट्स को इंप्रेस करने के लिए पांच साल तक हिंदू होने का नाटक किया। उन्होंने अपना नाम भी बदल लिया था। आखिरकार शाहरुख गौरी के पैरेंट्स को इंप्रेस करने में कामयाब हुए और 25 अक्टूबर 1991 में दोनों की शादी हो गई।

अपनी प्रतिक्रिया दें।

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें